दिल्ली में आठ महीने की अबोध-बच्ची संग हुआ दुष्कर्म

0
85

| दिल्ली:-(अनीता गुलेरिया) शकूरपुर नेताजी सुभाष पैलेस इलाके में आठ महीने के बच्ची को अकेला देख साथ उसके ताऊ के लड़के जिसका नाम सूरज,उम्र सत्ताईस साल,शादीशुदा, एक बच्चे का बाप होने के %बावजूद दुष्कर्म जैसी वारदात को अंजाम दिया दोपहर के समय बच्चे की मां जब काम से वापस लौटी तो उसने अपने भतीजे को कमरे से बाहर भागते हुए देखा | कमरे में खून से से लथ-पथ बच्ची को तुरंत कलावती सरन अस्पताल में भर्ती किया गया | यहां पर पीडित मासूम जिंदगी और मौत के बीच जूझ रही है | पीड़ित परिवार के अनुसार उन पर मामले को रफा-दफा करने के लिए दबाव डाला जा रहा है सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश दीपक मिश्रा के आदेश पर एम्स के दो डॉक्टरो द्वारा आज बच्ची की स्वास्थ्य जांच रिपोर्ट दायर की जाएगी न्यायधीश पीठ ने बच्ची के स्वास्थ्य को पहल देते हुए कहा एम्स के डॉक्टरों की टीम तुरंत बच्ची को देखने अस्पताल जाएगी और देखेगी क्या उसे एम्स मे शिफ्ट करने की जरूरत है | यदि जरूरत पड़े तो बच्ची को एम्स में भर्ती कर जल्दी इलाज शुरू किया जाए | पीड़ित-परिवार की मांग है, दोषी को जल्द से जल्द कड़ी कार्यवाही के तहत फांसी की सजा दी जाए | दिल्ली महिला-आयोग अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा मैं चाहती हूं ,प्रशासन के अंदर सख्त से सख्त फास्ट-ट्रैक कोर्ट में जल्दी कार्रवाई के तहत छह: महीने के अंदर आरोपियों को फांसी की सजा होनी चाहिए | मै आज से तीस-दिन का सत्याग्रह-आंदोलन करते हुए घर पर ना जाकर दिन-रात तीन गुना काम करते हुए दिल्ली की सब महिलाओं को अपने साथ जोड़ेंगे, महिला-सुरक्षा हेतु सख्त कानून लागू हो और इस पर हर तरह से जल्दी कार्यवाही होनी चाहिए | जैसे की फॉरेंसिक-लैब में स्वास्थ्य जांच की रिपोर्ट कई-कई दिन तक पेंडिंग पड़ी रहती हैं | और इसी तरह यह मामले कई दिन तक लटकते रह जाते हैं | हमारी प्रशासन से यही मांग रहेगी,महिला-सुरक्षा हेतु मामलों का निपटारा जल्द से जल्द होना चाहिए | तभी आरोपियों को कानून का खौफ होगा,नहीं तो आए दिन दिल्ली हर रोज एक नई दामनी का स्वरूप धारण करती रहेगी |

LEAVE A REPLY