दहेज-दानव 

0
110

कठिन समस्या बना हुआ है
आज कन्यादान रूका हुआ है
दहेज – दानव अड़ा हुआ है
बेटी का पिता लाचार हुआ है

इच्छा से दान दिया जाता है
धर्म का काम किया जाता है
मांगना भीख कहलाता है
भीख निम्नश्रेणी में आता है

दान ग्रहण करो धर्म से
आगे बढ़ो अपने कर्म से
तकलीफ समझों मर्म से
नहीं तो मरना होगा शर्म से

आओ दहेज – दानव को मिटा दें |
इंसानियत पर लगा कलंक हटा दें ||

मुकेश कुमार ऋषि वर्मा

LEAVE A REPLY