माननीय संस्कृति एवं संसदीय कार्य राज्य मंत्री श्री अर्जुन राम मेघवाल के कर कमलों द्वारा दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी ब्रेल चल पुस्तकालय वाहन का उद्घाटन

0
104

sc

माननीय संस्कृति एवं संसदीय कार्य राज्य मंत्री श्री अर्जुन राम मेघवाल के कर-कमलों द्वारा दिनांक 25 नवम्बर 2022 को दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी ब्रेल चल पुस्तकालय वाहन का उद्घाटन किया गया । समारोह में संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार की संयुक्त सचिव श्रीमती मुग्धा सिन्हा उपस्थित रहीं I यह कार्यक्रम दिल्ली लाइब्रेरी बोर्ड के अध्यक्ष श्री सुभाष चंद्र कानखेड़िया एवं महानिदेशक डॉ. आर. के. शर्मा के मार्गदर्शन में आयोजित किया गया I इस अवसर पर दिल्ली लाइब्रेरी बोर्ड के उपाध्यक्ष श्री परिक्षित डागर तथा सदस्या डॉ. रुचिका राय मदान, ब्लाइंड रिलीफ एसोसिएशन के एग्जीक्यूटिव सेक्रेटरी श्री कृष्ण चन्द्र पाण्डेय की भी गरिमामई उपस्थिति रही I

माननीय संस्कृति एवं संसदीय कार्य राज्य मंत्री श्री अर्जुन राम मेघवाल ने दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी द्वारा दिव्यांग पाठकों के लिए ब्रेल चल पुस्तकालय सेवा प्रारंभ करने पर सभी को बधाई दी । उन्होंने माननीय प्रधानमंत्री द्वारा दिए गए शब्द ‘दिव्यांग’ को विस्तार से परिभाषित करते हुए पुस्तकालय कर्मचारियों से दिव्यांग जनों को संवेदनशीलता के साथ पुस्तकालय सेवाएं प्रदान करने तथा पुस्तकालय सेवाओं में सुधार हेतु अग्रसर होने के निर्देश दिए तथा भारतीय संविधान के इतिहास को बताते हुए  25 नवंबर 1949 के दिन संविधान सभा की आख़िरी बैठक में बाबा साहब भीम राव आंबेडकर द्वारा दिए गए समापन भाषण का उल्लेख किया और सभी को इस भाषण को पढ़ने को प्रेरित किया I साथ ही, उन्होंने दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी से जुड़े अपने अनुभवों को भी श्रोताओं से साझा किया ।

संयुक्त सचिव, संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार श्रीमती मुग्धा सिन्हा ने ब्रेल विद्यार्थियों हेतु चल पुस्तकालय सेवा प्रारंभ होने पर सभी को शुभ कामनाएं दी । उन्होंने पाठकों हेतु सुलभ पुस्तकालय सेवाएं प्रदान करने एवं पुस्तकालय के विकास हेतु बहुमूल्य सुझाव दिए तथा पुस्तकालय सेवाओं को जन-केन्द्रित बनाने के  निर्देश दिये I

इससे पूर्व मंच संचालन करते हुए  उर्मिला रौतेला, सहायक पुस्तकालय एवं सूचना अधिकारी, दि.प.ला. द्वारा भारतीय परम्परानुसार कार्यक्रम के शुभारंभ के लिए गणमान्य अतिथियों  को दीप प्रज्ज्वलन हेतु मंच पर आमंत्रित किया गया तथा  जे. पी. एम. सीनियर सेकेंडरी स्कूल फॉर द ब्लाइंड के विद्यार्थियों द्वारा सरस्वती वंदना प्रस्तुत की गई ।

अध्यक्ष, दिल्ली लाइब्रेरी बोर्ड,  श्री सुभाष चंद्र कानखेड़िया ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी विशिष्ट अतिथियों का  स्वागत करते हुए दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी की स्थापना से जुड़े इतिहास को सभी से साझा किया । साथ ही उन्होंने दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी की सदस्यता, प्रदान की जा रहीं सेवाओं आदि से भी सभी को अवगत कराया । उन्होंने पुस्तकालय में पाठकों को लाभान्वित करने हेतु सभी उच्च स्तरीय सेवाएं प्रारंभ कर दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी को एक विश्वस्तरीय संगठन बनाने की कल्पना प्रस्तुत की ।

महानिदेशक डॉ. आर. के. शर्मा  ने नई शिक्षा नीति का हवाला देते हुए कहा कि हमें ज्ञान के सृजन तथा संरक्षण के साथ-साथ  ज्ञान के प्रसार पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है  तथा ज्ञान के तीव्र प्रसार में सार्वजनिक पुस्तकालयों  के महत्त्व पर भी उन्होंने चर्चा की I साथ ही, पुस्तकालय के विकास एवं उत्थान हेतु भविष्य की योजनाओं पर भी उनके द्वारा प्रकाश डाला गया I उन्होंने यूनेस्को के सहयोग से पुस्तकालय के विकास हेतु नवीन अन्वेषण की परिकल्पनाओं  से भी सभी श्रोताओं को अवगत कराते हुए मंत्री महोदय, संयुक्त सचिव, संस्कृति मंत्रालय, अध्यक्ष महोदय तथा सभी आमंत्रित जनों का कार्यक्रम में उपस्थित होने के लिए ह्रदय से आभार व्यक्त किया  I

LEAVE A REPLY