दिल्ली सरकार तुरंत पुदिननि सफाई कर्मचारियों के वेतन का पैसा दे- महेश गिरी

0
155

IMG-20170527-WA0010

नई दिल्ली 26 मई 2017। भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री व पूर्वी दिल्ली सांसद ने आज उपराज्यपाल के साथ बैठक की। ओ.पी. शर्मा, विधायक, नीमा भगत, महापौर, सजंय गहलोत, आर.बी. उंटवाल व अन्य मजदूर यूनियन के पदाधिकारी उपस्थित थे। सर्वप्रथम उन्होंने पूर्वी निगम के सफाई कर्मचारियों के रुके हुए वेतन के विषय मे उपराज्यपाल को अवगत कराया। सांसद ने बताया कि दिल्ली सरकार द्वारा इनको मिलने वाले वेतन का पैसा जानबूझ कर रोका गया है। इस वजह से इन्हें काफी समस्याओ का सामना करना पड़ रहा है। सांसद ने उपराज्यपाल से निवेदन किया की वह हस्तक्षेप कर जल्द से जल्द उनके रुके हुए वेतन का पैसा जारी करने हेतु कार्यवाही करें।

ज्ञात हो कि 22 मई को सांसद महेश गिरी के आश्वासन पर सफाई कर्मचारियां द्वारा हड़ताल वापिस ली गई थी।

बैठक में सांसद ने पूर्वी दिल्ली में पीने के पानी की गंभीर समस्या से भी अवगत कराया। बताया कि किस प्रकार दिल्ली जल बोर्ड के कार्यनीति के कारण लोग दूषित पानी पीने को मजबूर है। जिस पर शीघ्र कार्यवाही करने की आवश्यकता है।

इसके साथ ही सांसद ने पी डब्ल्यू डी विभाग से संबंधित कुछ लंबित  कार्यो के बारे में उपराज्यपाल से हस्तक्षेप व कार्यवाही हेतु निवेदन किया। महेश गिरी ने बताया कि आई पी यूनिवर्सिटी कैंपस खोलने हेतु वर्ष 2014 में स्वीकृती हुई परन्तु कार्य अभी तक आरम्भ नही हुआ। सरिता विहार में 100 बिस्तरों के अस्पताल का निर्माण कार्य वर्ष 2014 में आरम्भ किया जाना था परंतु अभी तक कार्य शुरू नहीं हुआ है। पी डब्ल्यू डी की लापरवाही का अन्य सबूत देखें तो बारापुला एलिवेटेड रोड का निर्माण कार्य समाप्त नही हुआ जबकि उसकी समय सीमा समाप्त हुए कई माह बीत गए। इसके साथ ही पी डब्ल्यू डी व सिचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग द्वारा मानसून से पहले सभी नालो की सफाई की जानी आवश्यक होती है परंतु इन्हें जनता की सुख सुविधा व सहूलियत से कोई सरोकार नहीं।

बीएसईएस व डी टी एल विभाग से संबंधित भी कुछ महत्वपूर्ण कार्य होने में देरी हो रही है जिनमे प्रमुख प्रीत विहार ओर राजघाट पावर ग्रिड का निर्माण है। यह कार्य भी इस विभाग के ढुलमुल रवैये के कारण पूर्ण नही हुआ है।

सांसद ने कहा कि हम सभी का ध्येय जनता को बेहतर, स्वच्छ व सुविधायुक्त वातावरण उपलब्ध करना  है। परंतु कुछ विभागों के लापरवाह रवैये के कारण जनता को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इन्हीं विभागों को जगाने की आवश्यकता है।

 

LEAVE A REPLY