वी.जी. लर्निंग द्वारा जी.एस.टी. पर सेमिनार का आयोजन

0
28

CA Vinod Gupta, CA Rajesh Tuteja(CIT Delhi), Shashank Priya Director Genral & Commissioner GST Counsil, CA Ashok Batra, Mr Ved Jain Ex- President of ICAI

वेबिनार, आभासी व सैटेलाइट कक्षाओं द्वारा जीएसटी ज्ञान वितरित करने की योजनाः विनोद गुप्ता

नई दिल्ली, 29 अप्रैल 2017; वी.जी. लर्निंग द्वारा सिविक सेंटर नई दिल्ली में जी.एस.टी. पर केन्द्रित एक सेमिनार का आयोजन किया गया। जिसका मुख्य उद्देश्य हाल ही में सरकार द्वारा घोषित जी.एस.टी से जुड़े विभिन्न पहलुओं और इसे गहराई से समझने के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश देना था, जिससे कि रोजमर्रा के काम में लोगों का कार्यान्वयन सुचारू रूप से हो सके।

सी.एस. शिक्षा में अग्रणी वी.जी. लर्निंग द्वारा अपने निदेशक विनोद गुप्ता के नेतृत्व में आयोजित इस सेमिनार में जी.एस.टी. महानिदेशक शशांक प्रिया, आई.सी.ए.आई. के पूर्व अध्यक्ष वेद जैन बतौर मुख्यातिथि उपस्थित थे। उनके अतिरिक्त देशभर के लगभग 1000 सी.ए., अधिवक्ता, सी.एफ.ओ. आदि बतौर प्रतिभागी उपस्थित थे।

कार्यक्रम के दौरान जीएसटी पर नए कानून के आदी होने के लिए व्यावहारिक सुझाव दिये गये, साथ ही जीएसटी की वास्तविक अवधारणाओं को उदाहरण के साथ समझाया गया।

मौके पर विनोद गुप्ता ने कहा कि सी.ए. शिक्षा में हमने एक मुकाम कायम किया है और आज के समय में जी.एस.टी. को लेकर काफी सवाल और सुझाव हैं, इसी को ध्यान में रखते हुए हम पूरे देश में वेबिनार, आभासी कक्षाएं और सैटेलाइट कक्षाओं के माध्यम से जीएसटी ज्ञान को वितरित करने की योजना बना रहे हैं। हम नाममात्र शुल्क पर हर जगह उपलब्ध विशेषज्ञों द्वारा जीएसटी से जुड़ी जागरूकता व ज्ञान का प्रसार करना चाहते हैं, जिससे कि इसका पूरा लाभ सभी को मिल सके।“

सेमिनार में जीएसटी के विभिन्न प्रावधानों, रिटर्न्ज तथा नियमों को विस्तारपूर्वक समझाया गया तथा विशेषज्ञों द्वारा उनके प्रश्नों के जवाब भी दिए गए। गौरतलब है कि केंद्र सरकार का प्रस्तावित जीएसटी जुलाई, 2017 से लागू किया जाना है। 

मुख्यातिथि श्री शशांक प्रिया ने बताया कि यह एक अच्छा प्रयास है क्योंकि सेमिनार का उद्देश्य कर विशेषज्ञों व अन्य को देश में लागू होने जा रहे जीएसटी के विभिन्न प्रावधानों से अवगत करवाना है। जी.एस.टी. को लेकर लोगों के बीच विभिन्न अवधारणायें हैं ऐसे में इस तरह के सेमिनार लोगों का मार्ग-दर्शन करने में अहम् भूमिका निभायेंगे।

श्री वेद जैन ने विनोद गुप्ता की प्रशंसा करते हुए कहा कि, सी.ए. शिक्षा में अग्रणी संस्थान बनाने के लिए इन्होंने काफी अच्छे प्रयास किये हैं और यह भी एक सराहनीय प्रयास है कि एक मंच पर इतने प्रोफेशनल्स व विद्यार्थियों को जानकारी साझा करने व पहलुओं को समझने का मौका मिला है।

LEAVE A REPLY