कोरोना इस दौर में कपालभाति करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है

0
85

3bhastrika-pranayama1597662862

कोरोना संकट के इस दौर में प्राणायाम और आसन बेहद उपयोगी साबित हो रहे हैं। योग गुरु कहते हैं कि कपालभाति हमारे फेफड़ों की सफाई और इन्हें मजबूत बनाने का काम करता है। जो लोग नियमित रूप से कपालभाति करते हैं, वे सांस संबंधी कई बीमारियों और एलर्जी से बचे रह सकते हैं। कोरोना हमारे श्वसन तंत्र पर अटैक करता है, ऐसे में कपालभाति हमारे फेफड़ों और श्वसन तंत्र की वायरस से लड़ने की क्षमता बढ़ाने में मददगार साबित हो सकता है।
कपालभाति प्राणायाम में हम सांस लेते हैं और छोड़ते हैं। रोजाना करीब पांच मिनट तक इस प्राणायाम को करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है और आप किसी भी प्रकार के संक्रमण से बचे रहेंगे। मौजूदा हालात देखें, तो रोजाना बड़ी संख्या में मामले आ रहे हैं। लोग आक्सीजन की कमी के कारण जान गंवा रहे हैं। ऐसे में जरूरी है कि आप अपने फेफड़ों को तंदुरुस्त रखें, ताकि आक्सीजन से जुड़ी समस्या न हो। नियमित रूप से कपालभाति करेंगे, तो आक्सीजन की जरूरत नहीं होगी। भागदौड़ वाली जिंदगी में योग जरूरी है।

LEAVE A REPLY