कौन किसका सहारा…

0
134

बचपन से छोटे बच्चे को,
लगता है मां का सहारा|
पर क्या मां के लिए,
नहीं है बच्चा उसका सहारा||

जवानी तक मां बाप,
देते बच्चों को सहारा|
बुढ़ापा आने पर बनते,
बच्चे मां बाप का सहारा||

काठी है बुढ़ापे में,
कांपते पैरों का सहारा|
पर काठी को सीधा खड़ा होने में,
क्या नहीं चाहिए, बूढ़े का सहारा||

नेता से, जनता को उम्मीद,
यह करवाएगा! रुका! काम हमारा!
वह भी तो बना है नेता,
लेकर जनता का सहारा||

हम पूजा ‘प्रभु’ को,
वो ही तो है मां-पिता हमारा|
पर सहारा हमारा लेकर ही तो,
वह बना हे भगवान हमारा||

सिर्फ बताइए तो,
कौन है किसका सहारा?
शायद हम सभी हैं,
एक-दूसरे का सहारा||

प्रीति बंजारी, नई दिल्ली

LEAVE A REPLY