के.बी.एस. प्रकाशन, पुस्तक लोकार्पण, पोर्ट ब्लेयर 

0
114
Untitled-1
के.बी.एस. प्रकाशन के तत्वाधान में 21 जून 2018, हिंदी साहित्य कला परिषद, पोर्ट ब्लेयर, अंडमान में के.बी.एस. प्रकाशन द्वारा प्रकाशित लेखक श्री केशवदास यादव जी के चार भजन संग्रह का लोकार्पण सुधि साहित्यकारों, पत्रकारों और कलाकर्मियों की उपस्थिति में सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ संपन्न हुआ।
कार्यक्रम का शुभारम्भ गणमान्य अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन, माँ शारदे के समक्ष पुष्पांजली अर्पण व सरस्वती वंदना कुमारी गीता व श्री रविन्द्र जी ने अपनी मधुर वाणी में प्रस्तुत किया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री व्यासमणि त्रिपाठी जी (महासचिव, हिंदी साहित्य कला परिषद) ने की, मुख्य अतिथि श्री विजय कुमार जी(प्रधानाचार्य, केन्द्रीय विद्यालय, पोर्ट ब्लेयर) रहे और विशिष्ट अतिथि श्री हरिशंकर प्रसाद जी, श्री जे.पी.सिंह जी, श्री महेंद्र प्रताप मिश्रा जी, श्री जगदीश नारायण राय जी, डॉ घनश्याम पाण्डेय जी, श्री नरेंद्र प्रताप मिश्रा जी रहे।
के.बी.एस. प्रकाशन के प्रकाशक श्री संजय शाफी जी ने स्वागत भाषण दिया। श्री संजय शाफी जी ने के.बी.एस. प्रकाशन के विषय में उपस्थित जन समूह को अवगत कराया। साथ ही के.बी.एस. प्रकाशन के सौजन्य से शुरू किए गए श्री दर्शन स्मृति सम्मान के विषय में अपना वक्तव्य रखा। इसके पश्चात केबीएस प्रकाशन एवं लेखक की ओर से सभी अतिथियों का स्वागत किया गया ।   इसके पश्चात श्री केशवदास यादव जी के चार संग्रह ‘भक्तिसार गीतावली’, ‘देवी महिमा शतपदी द्वितीय संस्करण’, ‘लोकरंजनी भाग1 द्वितीय संस्करण’, ‘लोकरंजनी भाग2 द्वितीय संस्करण’ का लोकार्पण, समारोह के अतिथियों के करकमलों से संपन्न हुआ। समारोह के दौरान पुस्तक पर चर्चा में भाग लेते हुए सभी अतिथियों ने उपर्युक्त संग्रह की खूबियों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह संग्रह बहुत ही महत्वपूर्ण रूप से सामाजिक जीवन का लेखा जोखा प्रस्तुत करता है। उन्होंने चारों संग्रहों के हर पक्ष को उजागर किया। साथ ही लेखक को बधाई दी। लेखक श्री केशवदास यादव जी ने अपनी पुस्तक के कुछ महत्त्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखकर अपने अनुभव सबसे साझा किये और अपनी रचना यात्रा के सूत्र खोले तथा सभी का आभार व्यक्त किया।
के.बी.एस. प्रकाशन के प्रकाशक श्री संजय शाफ़ी जी ने लेखक को बधाई दी और अपनी ग़ज़ल से सबका दिल जीत लिया।
सभी अतिथियों के आशीर्वाद के पश्चात समारोह अध्यक्ष श्री व्यासमणि त्रिपाठी जी ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में आयोजन की सराहना करते हुए सभी सम्मानित साहित्यकारों और कलाकर्मियों को अपनी शुभकामनायें दीं और लेखक को निरंतर साहित्य साधना में रत रहते हुए देश और समाज के हित में रचना कर्म करते रहने को प्रेरित किया। उन्होंने सभी साहित्य प्रेमी, श्रोताओं को भी आयोजन का हिस्सा बनकर उसे सफल बनाने के लिए बधाई दी।
साथ ही उन्होंने बताया कि पोर्ट ब्लेयर में के.बी.एस. प्रकाशन पहला प्रकाशक है जो यहाँ आया है और ऐसा साहित्यिक कार्यक्रम किया गया है। के.बी.एस के लिए यह गौरव की बात है। सभी अतिथियों ने प्रकाशन को शुभकामनाएँ दीं, आशीर्वाद दिया और कहा कि प्रकाशन साहित्य, संवेदना, मानवीय-जीवन मूल्य को साथ रखकर कार्य कर रहा है।
इसके पश्चात समारोह का द्वितीय सत्र का आरंभ हुआ- सांस्कृतिक कार्यक्रम। लेखक श्री केशवदास यादव जी ने अपनी रचनाओं का पाठ कर पूरा समा बांध दिया और इसके साथ ही हमारे अतिथि श्री हरिशंकर प्रसाद जी अपनी मधुर वाणी में अपनी रचनाओं का पाठ किया।
श्रीमती भावना शर्मा जी ने कार्यक्रम का सुगठित एवं बेहतरीन संचालन कर समा बाँध दिया।
समारोह के अंत में के.बी.एस प्रकाशन की ओर से सहभागिता सम्मान से कुमारी गीता, कुमारी पुष्पलता, श्री योगेंद्र, श्री देव बरार, श्री अतुल प्रसाद, श्री रामआसरे, श्री धीरेन्द्र आदि को सम्मानित किया गया। आयोजन समिति की ओर से श्रीमती भावना शर्मा ने आयोजन को सफल बनाने के लिए सभी महानुभावों, हिंदी साहित्य कला परिषद, मीडिया पार्टनर्स- राष्ट्र किंकर, ट्रू मीडिया, डिप्रेस्ड एक्सप्रेस, सदिनामा, तनिमा, हम सब साथ साथ, प्राची के.बी.एस. साहित्यिक सफ़र और श्रोताओं के प्रति अपना आभार प्रकट किया।
भावना शर्मा

LEAVE A REPLY