लघुकथा-पाखंड

0
143
global-baba-movie-poster-2
सभी लोग महाराज जी के नाम का मौन जाप करें आज सभी को महाराज जी के दिव्य दर्शन होंगे और अगर आज किसी के सिर पर महाराज जी  ने अपना हाथ दख दिया तो उसे
महाराज से विशेष दीक्षा का अवसर प्राप्त होगा जो दुर्लभ ही किसी को प्राप्त होता है।
  सहसा ही जय हो-जय हो से सारा कक्ष गूंज उठा महाराज सधे कदमों से बढ़े चले जा रहे थे तभी उनकी दृष्टि एक  बाला पर पड़ी एक चपल मुस्कान बिखेरते हुए महाराज ने अपना हाथ उसके शीश पर रखा और जय हो कि गूंज से पुनः सारा कक्ष गुंजायमान हो गया।
   महराज के प्रस्थान करते ही अंगरक्षक उस बाला की मां के समीप  बढ़ लिए और कहा “महाराज की विशेष कृपा इस कन्या को प्राप्त हुई है इसे प्रसादी गृह में छोड़ आओ इसे महाराज दिव्य ज्ञान से अलंकृत करेंगे”।
  और मां उस कुटिल मुस्कान बिना पहचाने ही अपनी सुकुमारी को लेकर  प्रसादी गृह की ओर बढ़ जाती है।
  शोषण की यह इबारत जाल साज़
बाबाओं द्वारा बार -बार लिखी जाती है और नासमझ उसकी चपेट में आने से बच नहीं पाते।
नाम-दीपासंजय*दीप*
शहर-बरेली

LEAVE A REPLY