मेरा भारत महान 

0
39

दुनिया का सर्वश्रेष्ठ देश भारत और यहाँ के निवासी महासर्वश्रेष्ठ | यहाँ की मान्यता है कि ईश्वर जब भी अवतार (जन्म) लेता है तो वो भारत में ही लेता है क्योंकि यहाँ की भूमि पावन – पवित्र है | यहाँ सबसे अधिक भगवान पाये जाते हैं और सभी बड़े शक्तिशाली होते हैं | इनके भक्त आये दिन आपस में लड़ – लड़ कर कट – मर जाते हैं पर इनके भगवान कभी इन्हें बचाने – समझाने या बीच – बचाव भी कराने नहीं आते | आश्चर्य की बात तो यह है कि यहाँ हर रोज एक – दो नये भगवान पैदा हो जाते हैं | यहाँ भगवानों का निवास रेलवेस्टेशनों पर और पटरियों के बीच में भी पाया जाता है | भारतीय भगवान लखपती नहीं, करोड़पति नहीं, अरबपति नहीं खरबपति और इससे भी ज्यादा अमीर हैं | लेकिन आप विश्वास कीजिये कि यहाँ गरीबी भी इतनी ज्यादा है कि लोगों को कूड़े के ढेरों में कुत्ता – बिल्ली, शुअरों के साथ खाते हुए देखा जा सकता है | अब कुछ अंग्रेज वंशज मुझपर भौंकेगे कि हमने तो कभी नहीं देखा | मैं उनसे कहना चाहूंगा कि पहले वो अपनी आंखों पर से अमीरी के घमण्ड वाला चश्मा उतारें फिर सबकुछ साफ – साफ दिखाई देगा | खैर यह सब छोडिये अब बाकी मुद्दों पर बात करते हैं |

भ्रष्टाचार कोई बुरा शब्द नहीं है | भारत में तो सारे के सारे भगवान ही भ्रष्टाचारी हैं फिर यहाँ के खूंसट नेताओं, अधिकारीयों की बात ही करना बेकार है | अब देखिये यहॉ ऐसा कोई मठ – मंदिर, मस्जिद, चर्च या गूरूद्वारा नहीं जहाँ चढ़ावा – बढ़ावा न होता हो | यहाँ लोगों में होढ़ मची रहती है कि वह सबसे ज्यादा चढ़ायेगा ताकि उसकी मनोकामना पहले पूरी हो जाये | कुलमिलाकर भगवान भी भ्रष्टाचारी हैं फिर दल्लों की तो बात ही करना बेकार है | अब कुछ लोग दलील देंगे कि भगवान कभी किसी से कुछ नहीं मांगते | मेरा जवाब – भईया सीधे – सीधे तो यहाँ के मंत्री – संत्री, अधिकारी भी कुछ नहीं मांगते | देखिये पिछले दिनों मैंने एक इण्टरव्यू दिया, मैं इंटरव्यू में पास भी हो गया, किसी ने मुझसे इशारों – इशारों में चालीस हजार का चढ़ावा चढाने को कहा मैंने कोई ध्यान नहीं दिया | सूची लगी पर मेरा नाम नहीं था, कारण…  चढ़ावा न चढ़ाना ही रहा होगा |

इसके अलावा भारत महान की और भी बहुत बड़ी – बड़ी उपलब्धियां हैं | यहॉ की सरकारों के पास बजट नहीं है, खासकर किसानों और मजदूरों के लिए | यहाँ गरीब बच्चे भात – भात, रोटी – रोटी कहते हुए दम तोड़ देते हैं पर अगर यहाँ कोई विदेशी फिरंगी सरकारी मेहमान बनकर आ जाये तो यहाँ के बेशर्म मंत्री – संत्री बेशर्मी की सारी हदें पार कर देते हैं | तब इनकी शॉनो – शौकत देखने लायक होती है | ऐसा लगता है कि भारत ही दुनिया का एक मात्र अमीर सुविधा – सम्पन्न देश है | चलते – चलते अब बस इतना ही कहूंगा – मेरा भारत महान !

LEAVE A REPLY