नृत्य नाटिका द्वारा बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ का मंचन

0
97

DSC_3657
पहले नृत्य को मनोरंजन की दृष्टि से ज्यादा देखा जाता था लेकिन अब उसकी परिभाषा बदल गयी है, नृत्य द्वारा समाज में जागरूकता लाने और उसकी कुरूतियों को दिखाने का एक मजबूत प्रयास किया है कथक डांसर डॉ रेखा मेहरा ने, जिन्होंने एलटीजी ऑडिटोरियम, दिल्ली में बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ को अपने नृत्य का विषय लेकर बहुत खूबसूरत नृत्य नाटिका वर्ल्ड अर्थ डे पर प्रस्तुत की। जिसमे उनके पुरे ग्रुप ने मेहनत की जिसमें उनका संगीत, लाईटिंग के साथ नृत्य का बेहद खूबसूरत तालमेल देखने को मिला और अपनी कहानी द्वारा दर्शकों की आँखे नम कर दी।
रेखा मेहरा ने बताया की उवर्शी डांस म्यूजिक आर्ट व कल्चरल सोसायटी काफी वर्षो से समाज में जागरूकता लाने में प्रयासरत है। पिछले कई वर्षो से देश में बलात्कार जैसी घटनाओ से समाचार पत्र भरा रहता है और आज जिस तरह दो साल की बच्चियों के साथ ये सब हो रहा है उसे वासना और हैवानियत का वीभत्स रूप ही कहा जा सकता है, हमारा यह छोटा सा प्रयास कुछ लोगो को ही प्रेरित कर सके तो हम स्वयं को सफल मानेंगे। हमारी संस्था गरीब बच्चों को नृत्य व शिक्षा भी प्रदान करती है और इस वर्ष हमने अंडरप्रिवलेज विद्यार्थियों के उत्थान के लिए हमने समागम फेस्टिवल में सेमिनार और डांस का आयोजन किया है जिसमें भाजपा के विजय जाॅली, प्रख्यात नृत्यांगना नलिनी कमलिनी व भारती शिवाजी  मुख्य अतिथि रहे। इस अवसर पर विजय जाॅली ने कहा की देश की वर्तमान स्थिति को देखते हुए इस तरह का आयोजन सराहनीय है।

LEAVE A REPLY