पल्लव को शब्द साधक आलोचना सम्मान 

0
28
IMG-20191102-WA0013
चित्तौड़गढ़। 03 नवम्बर हिंदी साहित्य की प्रसिद्ध पत्रिका ‘पाखी’ द्वारा दिए जाने वाले प्रतिष्ठित सम्मानों में चित्तौड़गढ़ के मूल निवासी पल्लव को 2018 का  शब्द साधक आलोचना सम्मान दिए जाने की घोषणा की गई है। ‘पाखी’ के सम्पादक और प्रसिद्ध पत्रकार अपूर्व जोशी द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार कथा आलोचना में अपने विशिष्ट योगदान के लिए युवा आलोचक पल्लव को यह सम्मान दिया जाएगा।  नोएडा के इंदिरा गांधी कला केंद्र में  14 -15 नवम्बर को आयोज्य ‘पाखी महोत्सव’ में यह सम्मान दिया जाएगा। 2018 का शब्द साधक शिखर सम्मान चित्तौड़ में अनेक वर्षों तक रहे प्रसिद्ध कथाकार स्वयं प्रकाश को दिया जाएगा। संभावना के अध्यक्ष डॉ के सी शर्मा ने बताया कि चित्तौड़गढ़ से जुड़े रहे साहित्यकारों को राष्ट्रीय सम्मान की घोषणा गर्व का विषय है। ज्ञातव्य है कि पल्लव की आलोचना कृति ‘कहानी का लोकतंत्र’ 2012 में प्रकाशित हुई थी जिसे हिंदी अकादमिक जगत में बहुत सराहना मिली। दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रसिद्ध हिन्दू कालेज में अध्यापन कर रहे डॉ पल्लव 2008 से हिंदी साहित्य की एक विशिष्ट पत्रिका ‘बनास जन’ का सम्पादन -प्रकाशन भी कर रहे हैं।
डॉ के सी शर्मा
अध्यक्ष
संभावना संस्थान
चित्तौड़गढ़

LEAVE A REPLY