पंजाब के दलित मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी पर सुश्री मायावती का बयान

0
27

WhatsApp Image 2021-09-20 at 2.36.32 PM

पंजाब के दलित मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी के शपथ लेने पर बसपा सुप्रीमों सुश्री मायावती द्वारा यह कहने पर कि यह राजनीतिक दलों का छलावा है और यह भी कहने पर कि आजादी काल में नेहरू जी ने दलित डॉ भीमराव अंबेडकर को संविधान निर्माता की टीम में इसलिए रखा था क्योंकि वो सबसे अधिक योग्य थे, अगर नेहरू के पास कोई दूसरा योग्य नाम होता तो वो बाबा साहब को बिल्कुल नही रखते। मायावती के इस बयान पर भाजपा के जिला मंत्री भुवनेश सिंघल ने उन पर पलटवार करते हुए कहा कि यह सच है कि कॉग्रेस ने दलितों के साथ हमेशा छल किया है मगर यदि आज कोई दलित अपनी योग्यता से पंजाब का मुख्यमंत्री बना है तो इसके विरोध की बातें करके मायावती किस मूंह से दलित प्रेम की बात कर रही हैं, सिंघल ने आगे कहा कि यह वही मायावती है जिनकी पार्टी का नारा था कि तिलक तराजू और तलवार, इनको मारो जूते चार । वहीं भुवनेश सिंघल ने मायावती के भीमराव अंबेडकर के संविधान निर्माता बनने पर दिए बयान के लिए भी उनको आड़े हाथों लिया और कहा कि यह सत्य है कि कांग्रेस में शुरू से ही परिवारवाद हावी रहा है मगर बकौल मायावती उस समय भीम राव सबसे अधिक योग्य होने के चलते संविधान निर्माता बनाये गए थे तो इस बात से यह आरोप स्वयं निराधार हो जाता है कि तब जातिगत भेदभाव था। यानी कि तब भी योग्यता के आधार पर अवसर दिए जा रहे थे। सिंघल ने यह भी कहा कि पंजाब का दलित मायावती और कॉग्रेस दोनों के कथित दलित प्रेम को समझ चुका है और इस बार दलित समाज भाजपा के सबका साथ सबका विकास की वास्तविक विचारधारा के साथ खड़ा है।

भुवनेश सिंघल
जिला मंत्री, भाजपा उत्तर-पूर्वी जिला

LEAVE A REPLY