अलीगढ़ मंडलायुक्त ने किया “प्राची” पत्रिका के  अशोक ‘अंजुम’ विशेषांक का विमोचन 

0
42
IMG-20190726-WA0329
अलीगढ़, 26 जुलाई 19 ,  शिखर साहित्यिक संस्था द्वारा जबलपुर से प्रकाशित ‘प्राची’ मासिक पत्रिका के अशोक ‘अंजुम’ विशेषांक का लोकार्पण कमिश्नरी सभागार में मंडलायुक्त अजयदीप सिंह जी द्वारा किया गया । इस मौके पर मंडलायुक्त ने शॉल ओढ़ाकर अशोक अंजुम को सम्मानित किया। जबकि अपर नगर मजिस्ट्रेट द्वितीय श्रीमती अंजुम बी ने ‘प्राची, पत्रिका की अतिथि संपादक डॉ सफलता सरोज (कानपुर) को शॉल उड़ाकर उनका आभार व्यक्त किया!
मशहूर शायर डॉ मुजीब शहज़र के संचालन एवं ओजस्वी कवि हरीश बेताब के संयोजन में हुए इस कार्यक्रम में मंडलायुक्त अजयदीप सिंह ने कहा कि अशोक अंजुम ने साहित्य के क्षेत्र में अलीगढ़ का गौरव बढ़ाया है, साहित्य की सभी विधाओं में उन्हें महारत हासिल है। वरिष्ठ कथाकार व कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉक्टर प्रेम कुमार ने कहा कि अशोक अंजुम ने साहित्यकारों का मान बढ़ाया है। विशेषांक की अतिथि संपादक डॉ सफलता सरोज ने अशोक अंजुम को बहुमुखी प्रतिभा का धनी बताया। पूर्व विधायक विवेक बंसल ने अशोक अंजुम को प्रतिभावान कलमकार कहा। कवि हरीश बेताब ने कहा कि अशोक अंजुम ने विभिन्न विधाओं में महारत हासिल करके “जैक ऑफ ऑल मास्टर आफ नन” कहावत को गलत सिद्ध किया है। कार्यक्रम में कवि  अशोक अंजुम ने सभी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जितनी भी विधाओं में मेरा लेखन रहा है, उन विधाओं के मिज़ाज को अच्छी तरह समझा है, और सहजता के साथ कुछ अच्छी, अलग हट के बात कहने की कोशिश की है। समारोह के अध्यक्ष डॉ वेदप्रकाश अमिताभ ने कहा अशोक अंजुम के रचना संसार पर विशेषांक केंद्रित करके ‘प्राची’ पत्रिका स्वयं ही गौरवान्वित हुई है !
मशहूर शायर डॉ मुजीब शहज़र का कहना था कि
 ” गजल पे  जिस की पकड़ बहुत है  वह गीतों का दोहों का देवता है,
ज़माना उसको पुकारता है अशोक अंजुम, अशोक अंजुम।” नज़्म  से वाहवाही लूटी।
ओजस्वी कवि हरीश बेताब ने इस शेर से वाहवाही लूटी –
“कवि का शब्द शब्द हो जाता है उस क्षण कविता,
जब वो जग पीड़ाओं को सहने लगता है ।”
मशहूर युवा शायर नितिन नायाब का कहना था-
“मैंने एक नींद लूट ली थी कभी, जिंदगी भर मैं  सो नहीं पाया!’
 कवि अशोक अंजुम ने कहा –
मुझको गर तू उड़ान दे मौला
तो खुला आसमान दे मौला
जब भी बोलूं तो फूल से बरसेंं-
दे तो ऐसी जुबान दे मौला
कार्यक्रम में नरेंद्र शर्मा नरेंद्र, प्रेम शर्मा प्रेम, श्रीमती भारती शर्मा, वेद प्रकाश मणि, डॉ दौलत राम शर्मा, सुधांशु गोस्वामी, श्याम सुंदर श्याम आदि ने अशोक अंजुम को बधाइयाँ देते हुए काव्य-पाठ किया।
कार्यक्रम में अपर आयुक्त शमीम अहमद खान, अपर आयुक्त विमल कुमार, गीतऋषि स्व नीरज जी के सुपुत्र मिलन प्रभात, श्री राकेश सक्सेना,  श्रीमती किरण शर्मा, डॉ मधु आंधीबाल, डॉ विद्यार्णव  शर्मा, डॉ पूनम शर्मा , हिमांशु  मित्तल , डॉ उषा अरोड़ा, डॉ मधुसूदन शर्मा, सुश्री अंजना सेठ, श्री धर्मेंद्र कु शर्मा, श्री नरेश कुमार, श्री आशीष श्रीवास्तव आदि की विशेष उपस्थिति रही।
 
प्रस्तुति : हरीश बेताब, अलीगढ़ 

LEAVE A REPLY