साहित्यकार राजकुमार जैन राजन को अदबी उड़ान साहित्य सम्मान :2017

2
190

20987615_1831506680196251_2024177182_n20986409_1831506536862932_1280695840_n
उदयपुर: “अदबी उड़ान राष्ट्रीय पुरस्कार एवम सम्मान समारोह 2017″ का आयोजन रविवार को नेहरू हॉस्टल के तिलक सभागार में हुआ। इस आयोजन में विभिन्न प्रदेशों के 38 साहित्यकारों को सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर आकोला (चित्तौड़गढ़) के सुपरिचित साहित्यकार राजकुमार जैन राजन को संस्था के सर्वोच्च अलंकरण ” अदबी उड़ान बहुआयामी साहित्यकार सम्मान ” से विभूषित किया गया। सम्मान स्वरूप प्रशस्ति पत्र, अंग वस्त्र, उपरणा एवम 7 हजार रुपये नगद राशि प्रदान की गई। यह सम्मान इन्हें राष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ठ लेखन, प्रकाशन, संपादन, साहित्यकार सम्मान समारोह आयोजन एवम हिंदी भाषा के उन्नयन के क्षेत्र में विशेष योगदान हेतु प्रदान किया गया।
सम्मान समारोह की अध्यक्षता राजस्थान साहित्य अकादमी के निदेशक डॉ. इंदु शेखर ” तत्पुरूष ने की। नारायण सेवा संस्थान के संचालक प्रशांत अग्रवाल , नगरनिगम उदयपुर के महापौर चंद्र सिंह कोठारी एवम रॉयल ग्रुप ऑफ कम्पनी’ज के डायरेक्टर शेख शब्बीर के. मुस्तफा विशिष्ठ अतिथि के रूप में उपस्तिथ रहे। इस अवसर पर “अदबी उड़ान” पत्रिका के “बाल विशेषांक ” का लोकार्पण भी हुआ। द्वितीय चरण में मुशायरा व कवि सम्मेलन सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम आयोजक व अदबी उड़ान के प्रधान संपादक खुर्शीद शेख ” खुर्शीद” ने आभार व्यक्त करते हुए सफल व भव्य आयोजन के लिए प्रसन्नता व्यक्त की।
ज्ञातव्य है कि राजन की अब तक 25 पुस्तकेँ प्रकाशित हो चुकी हैं एवम कई पुस्तकों का पंजाबी, मराठी, गुजराती, ,ओड़िया, अंग्रेजी,असमिया आदि भाषाओं में अनुवाद हो चुका है। कई पत्रिकाओं के संपादन से भी आप जुड़े हुए हैं।आपको देश भर की विभिन्न प्रतिष्टित संस्थाओं द्वारा 100 से भी ज्यादा सम्मानों से नवाजा जा चुका है। आप बाल साहित्य उन्नयन एवम बाल कल्याण के लिए कई योजनाएं भी चलाते हैं। आप द्वारा कई प्रतिष्टित पुरस्कारों की स्थापना भी की गई हैं। बालको को हिंदी भाषा के संस्कार देने व पठन- पाठन की रुचि विकसित करने के लिए आप द्वारा सम्पूर्ण भारत के विभिन्न प्रदेशों की संस्थाओं, विद्यालयों , विद्यार्थियों को अब तक साढ़े तीन लाख रुपये मूल्य से भी अधिक का बाल साहित्य निःशुल्क वितरित किया जा चुका है।
राजन को “अदबी उड़ान बहुआयामी साहित्य सम्मान” से अलंकृत किये जाने पर साहित्यकारों, मित्रों ने हर्ष व्यक्त करते हुए बधाई दी है।

 

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY