साल सत्रह

0
33
बीत गया साल सत्रह
लाया था जो खतरा
नोटबन्दी कालाधन
मुद्दे लेकर था पसरा
लम्बी लम्बी कतारें
नए नोट संग सेल्फी
सारी बीती ये यादें
कचरे के ढेर से ये
पुराने नोट बिखरे
स्वच्छता अभियान
नेता अभिनेता सभी
हाथों में झाड़ू थाम
नित कदम बढ़ाते
सत्रह में स्वच्छता
देखने लायक हुई
हर क्षेत्र में सफाई
भ्र्ष्टाचारी जेल में
ढोंगी बाबा जेल में
देखते ही देखते
क्लीन इंडिया है
ग्रीन इंडिया है
समान कर है
एक सा देश में
हर गांव में रोशनी
हर गाँव में पेयजल
हर गाँव स्वच्छ
साफ सुथरी ढाणी
नेट से जुड़े गाँव
डिजिटल हुआ देश
अपना रुपया जमा
अपने खाते में आया
बिचौलियों का अंत
सारा रुपया सुरक्षित
ऑनलाइन पेमेंट
कैशलेस पेमेंट
घर बैठे मिली सुविधा
समय बचा धन बचा
विवादित फिल्में
पद्मावती का हंगामा
करणी सेना का विरोध
लीला भंसाली हुए चर्चित
इतिहास से छेड़छाड़
लगे कई आरोप
आज हर मुखड़े पर
एक ही नाम पद्मावती
सेना ने किए कई
आतंकवादी साफ
पाक न आया बाज
सारा देश एक रंग में
दिखता केवल भगवा
– कवि राजेश पुरोहित

LEAVE A REPLY