‘सम्मान समारोह एवं सृजनोत्सव-2018’ आयोजन

0
139

 IMG_20180520_131514
गत 19 मई 2018 को कानपुर की प्रतिष्ठित साहित्यिक संस्था ‘तरंग’ एवं साहित्यिक पत्रिका ‘नवनिकष’ के संयुक्त तत्वावधान में नौबस्ता स्थित राम जानकी भवन के सभागार में किया गया जिसमें मुरादाबाद के साहित्यकार योगेन्द्र वर्मा ‘व्योम’ को उनकी नवगीत-कृति ‘रिश्ते बने रहें’ के लिए “रामचरण सिंह अज्ञात स्मृति नवगीत श्री सम्मान” से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उ०प्र०विधानसभा अध्यक्ष श्री हृदयनारायण दीक्षित, नवनिकष के संपादक श्री लक्ष्मीकांत पाण्डेय, संस्था के संयोजक श्री सुरेश गुप्त राजहंस आदि द्वारा योगेन्द्र वर्मा ‘व्योम’ को सम्मान स्वरूप अंगवस्त्र, सम्मान पत्र, सम्मान राशि, प्रतीक चिन्ह आदि भेंट किया गया। इस अवसर पर नवनिकष पत्रिका की संयुक्त संपादक डा.प्रमिला अवस्थी ने सम्मानित योगेन्द्र वर्मा ‘व्योम’ के व्यक्तित्व व कृतित्व के सन्दर्भ में कहा कि व्योम जी की पुस्तक ‘रिश्ते बने रहें’ के गीत-नवगीत वर्तमान समय की विसंगतियों पर कटाक्ष करते हुए समाज को आईना दिखाते हैं। कार्यक्रम में हुए काव्यपाठ में उनके गीत- “धीरे-धीरे/सूख रही है/तुलसी आँगन में” को बहुत सराहा गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता उन्नाव के वरिष्ठ साहित्यकार श्री शिवबाबू मिश्र ने की। इस अवसर पर फिरोजाबाद से डा.रामसनेही यायावर, बदायूं से सतीश शर्मा सुधांशु, गुरूग्राम(हरियाणा) से डा. घमंडी लाल अग्रवाल तथा कानपुर से विनोद श्रीवास्तव, हरीलाल मिलन, राजेन्द्र तिवारी, जयराम सिंह जय, मंजू श्रीवास्तव, रमेश मिश्र आनंद, कृष्णकांत शुक्ल सहित अनेक साहित्यकार उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY