गुजरात की धरती पर इफको गोल्डन जुबली के ग्रैंड फिनाले में सत्यम उपाध्याय ने दी अदभुत प्रस्तुति

0
34

 

IMG-20171107-WA0014

सत्यम के गीत “मेरे देश की धरती सोना उगले” की कोरयोग्राफी श्यामक डावर द्वारा की गई|  इफको के स्वर्णिम 50 वर्ष पूरे होने पर इफको के प्रमुख परम आदरणीय डॉ. उदय शंकर अवस्थी जी के निर्देशन में सम्पूर्ण भारत वर्ष मे राष्ट्रीय स्तर के कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया| जिसका समापन बहुत ही शानदार व अदभुत तरीके से इफको कलोल इकाई, गुजरात में किया गया. जिसमें देश- विदेश से इफको के विभिन्न डेलीगेट्स उपस्थित हुए| इसी स्वर्णिम पल में भारत गौरव ‘यंगेस्ट प्रोफेशनल सिंगर ऑफ़ द वर्ल्ड’ सत्यम उपाध्याय ने “मेरे देश की धरती सोना उगले” गीत गाया जिसकी कोरयोग्राफी प्रसिद्ध कोरयोग्राफर श्यामक डावर ने की हजारों की संख्या में उपस्थित दर्शकों की तालियों से माहोल गूंज उठा। इस अवसर पर सत्यम को प्रसिद्ध हस्तियों श्यामक डावर, राहुल वेद्य, नीति मोहन, राजू श्रीवास्तव,श्री अरविन्द जी, श्री जैनेन्द्र जी आदि का मिला सानिध्य व आशीर्वाद मिला | सत्यम का कहना है की उसके लिए यह एक अदभुत व स्वर्णिम पल रहा जब कार्यक्रम के बाद इफको प्रमुख डॉ. उदयशंकर अवस्थी जी ने सत्यम को अपना भरपूर प्यार व आशीर्वाद दिया| इसी के साथ श्यामक डावर जी ने सत्यम से कहा- ‘सत्यम तुमने तो कमाल कर दिया’ और अपने गले से लगा लिया| इससे पूर्व पारादीप इकाई उड़ीसा द्वारा गोल्डन जुबली सेलिब्रेशन, में सत्यम ने ‘हिंदी फिल्मों के गोल्डन ऐरा’ के गीत गाकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया था| सत्यम के आत्मविश्वास व् सुरों ने सभी का मन मोह लिया| सत्यम के गीत गाते ही पूरा इफको परिवार व हजारों की संख्या में मौजूद दर्शकों की तालियों से माहोल गूंज उठा|  इफको परिवार के प्रमुख परम आदरणीय डॉ. उदय शंकर अवस्थी, श्रीमती रेखा अवस्थी जी व सभी प्रसिद्ध हस्तियों,  फको के विभिन्न यूनिट से आए हुए पदाधिकारियों ने परफॉरमेंस के बाद सत्यम को सराहा व अपना आशीर्वाद दिया|
सत्यम सभी का आशीर्वाद पाकर अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं| उनका कहना है की वह इफको परिवार का बच्चा है व इफको के साथ-साथ गुरुग्राम, व् भारत का नाम विश्व पटल पर अंकित करना चाहते हैं| सर्वप्रथम सत्यम ने अपनी संगीत के जीवन की राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम प्रस्तुति २०१५ में इफको द्वारा आयोजित इंटर यूनिट कल्चरल फेस्टिवल के तहत गुरुग्राम में दी थी जिसमें सम्पूर्ण भारत वर्ष से कलाकार आए थे. सत्यम का मानना है यहीं से उसको अपनी प्रतिभा का पता चला जिसके लिए उसके माता-पिता व भाई उसको पूरा सहयोग कर उसकी प्रतिभा को निखारने में लगे हैं | सत्यम उपाध्याय इफको कॉलोनी, गुडगाँव निवासी साहित्यकार व समीक्षक डॉ.सविता उपाध्याय एवं नरेन्द्र उपाध्याय के पुत्र हैं. सत्यम को बचपन से ही संगीत के प्रति बेहद लगाव रहा है। सत्यम अपने आप को भाग्यशाली मानते हैं की उन्हें गुरु के रूप मे फास्टेस्ट पियानो आर्टिस्ट ऑफ़ द वर्ल्ड डॉ. अमन बाठला जी,पंडित गीतेश मिश्रा जी, श्री केदारनाथ मोंगिया एवं श्रीमती आदर्श मोंगिया, व डॉ. विनोद गन्धर्व जी का लगातार सानिध्य व आशीर्वाद मिल रहा है|
सत्यम उपाध्याय दूरदर्शन के प्रोग्राम सतरंगा बचपन, किड्ज आईलैंड, मेरी बात, हरियाणा के कई चैनल आदि में अपनी प्रस्तुति दे चुके हैं। इसके अतिरिक्त एफएम रेडियो मानव रचना, ऑल इण्डिया रेडियो एफएम- रेनबो में भी सत्यम उपाध्याय के इंटरव्यू का प्रसारण किया जा चुका है।

LEAVE A REPLY