पेड़ -प्रो.शरद नारायण खरे

0
50
पेड़

पेड़ लगाओ
पेड़ बढाओ
पेडों से मधुवन है ।
पेड़ सांस हैं
पेड़ आस है
पेडों से जीवन है ।
पेड़ नीर हैं
पेड़ पीर* हैं
पेडों से सावन है ।
पेड़ सुहावन
पेड़ मनभावन
पेडों से उपवन है ।
पेड़ सुर हैं
पेड़ ताल हैं
पेड़ों से सरगम है ।
पेड़ हैं मौसम
पेड़ हैं कल-कल
पेड़ों से कानून हैं ।
पेड़ हैं प्रीत
पेड़ मनमीत
पेड़ों से दमखम है ।

     -प्रो.शरद नारायण खरे
विभागाध्यक्ष इतिहास
शासकीय महिला महाविद्यालय
मंडला(म.प्र.)-481661

LEAVE A REPLY