आधी आबादी बॉलीवाल कप का आयोजन रद्द

0
270

IMG-20170518-WA0135

बालीवॉल फेडरेशन में जारी गुटवाजी की वजह से रद्द हुआ मैच महिला खिलाड़ियों को शसक्त बनाने के लिए 27 मई से शुरू हो रहा था मैच वीएफआई के अध्यक्ष ने दी अनुमति, सेक्रेटरी जनरल ने ली वापस मैच के आयोजक खेल मंत्री से मिल कर रखेंगे अपनी बात
नई दिल्ली। वालीबॉल फेडरेशन की गुटवाजी का खामियाजा महिला वॉलीवाल खिलाडियों और आयोजकों को उठाना पड़ रहा है। बॉलीवाल फेडरेशन ऑफ इंडिया (वीएफआई) ने 27 मई से शुरू होने जा रहे आधी आबादी बॉलीवाल कप (एएबीसी) के आयोजकों को मैच कराने के लिए दी गई अनुमति को अचानक से वापस ले लिया है। जिसकी वजह से मैच का आयोजन रद्द करना पड़ा है। मैच के आयोजक आधी आबादी फाउंडेशन के सस्थापक व सीईओ दिनेश के. सिंह ने इस बात की जानकारी आज यहां प्रेस क्लब में आयोजित एक संवददाता सम्मेलन में दी।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और खेल मंत्री विजय गोयल देश में खेल को बढावा देने की बात कह रहे हैं, लेकिन जो लोग खेल को प्रमोट करने करना चाहते हैं उनका रास्ते में खेल फेडरेशन बाधा पैदा कर रही हैं। उन्होंने कहा कि वीएफआई के अध्यक्ष चौधरी अवधेश कुमार ने 27 फरवरी 2017 को मैच कराने की अनुमति दी, लेकिन 17 मई (2017) को रात साढे ग्याहर बजे वाट्सअप के माध्यम से बीएफआई के सेक्रेटरी जनरल रामअवतार सिंह जाखड ने कहा कि मैच की अनुमति वापस ली जाती है। ऐसा ही एक पत्र दिल्ली वालीबॉल एसोसिएशन के अध्यक्ष सुधीर वत्स ने 17 मई को वाट्सअप के माध्यम से भेजा। जबकि दिल्ली वालीवॉल एसोसिएशन ने 17 जनवरी 2017 को पत्र लिखकर मैच कराने की अनुमति दी थी। श्री सिंह ने बताया कि जिस दिल्ली वॉलीवॉल एसोसिएशन ने मैच करने की अनुमति वापस लेने की वजह फीस का नहंी मिलना बताया है, जबकि फीस नगद में जमा करायी गई थी और अगर फीस की बात भी थी तो एसोसिएशन को इसके बारे में बताना चाहिए था कि हमे फीस नहीं मिला है।
दिनेश सिंह ने कहा कि अब जब हमारी टीम वैंगलुरू पहुंच गयी है, सभी स्टेडियम बुक हो चुके हैं। नियो स्पोट्स चैनल से प्रसारण अनुमति मिल गई है। टिकटो की बिक्री शुरू हो गई, जगह-जगह विज्ञापन लग चुके हैं ऐसे समय में वीएफआई और दिल्ली वालीवॉल एसोसिएशन ने जिस तरह से अनुमति वापस लेने का पत्र भेजा है वह दुखद है। उन्होंने कहा कि सरकार जब कह रही है कि स्परेट्स को प्रमोट करना है तो ऐसी स्थिति में कौन सामने आयेगा। पूछे गए सवाल के जबाव में श्री सिंह ने बताया कि वह खेल मंत्री बिजय गोयल से मिलकर अपनी बात रखेंगे और वीएफआई में जारी गुटबाजी के बारे में बतायेगे। इसके साथ ही वह प्रधानमंत्री कार्यालय को भी इस बारे में लिखेंगे। इस मौके पर दिल्ली पैंथर्स के मालिक अविनाश कुमार व राजेश श्रीवास्तव, आधी आबादी फाउंडेशन के कार्यकारी अध्यक्ष उज्जवल महताब आदि मौजूद थे

LEAVE A REPLY