दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी द्वारा राष्ट्रीय एकता दिवस/सरदार वल्लभभाई पटेल जयंती के उपलक्ष्य में संगोष्ठी का आयोजन

0
59

vv

            संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा भारत के 75 वें स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में इस वर्ष “आजादी का अमृत महोत्सव” मनाया जा रहा है I इसी श्रृंखला के अनुक्रम में दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी द्वारा राष्ट्रीय एकता दिवस/ सरदार वल्लभभाई पटेल जयंती के उपलक्ष्य में “भारत के एकीकरण में सरदार पटेल का अतुलनीय योगदान” विषय पर दिनांक 28 अक्टूबर 2021 को संगोष्ठी का आयोजन केंद्रीय पुस्तकालय के अमीर खुसरो सभागार में किया गया l श्री सुभाष चंद्र कंखेरिया, सदस्य, दिल्ली लाइब्रेरी बोर्ड द्वारा विशेष संबोधन  एवं डॉ. आर. के. शर्मा, महानिदेशक, दि.प.ला के सान्निध्य एवं मार्गदर्शन में आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में प्रो. संजीव कुमार तिवारी, कार्यवाहक प्राचार्य, महाराजा अग्रसेन कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय उपस्थित रहे l संगोष्ठी का शुभारम्भ सरस्वती वंदना एवं दीप प्रज्ज्वलन के साथ सरदार वल्लभ भाई पटेल जी के चित्र पर  श्रद्धा सुमन अर्पित कर किया गया  l

            डॉ. आर. के. शर्मा, महानिदेशक, दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी द्वारा भारतीय गणराज्य को एक सूत्र में बांधने वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल जी को नमन कर संगोष्ठी में उपस्थित मुख्य वक्ता प्रो. संजीव कुमार तिवारी, श्री सुभाष चंद्र कंखेरिया तथा सभी श्रोताओं का स्वागत कर अभिनंदन किया l

               प्रो. संजीव कुमार तिवारी ने अपने वक्तव्य द्वारा सरदार वल्लभ भाई पटेल जी का जीवन वृतांत के साथ उनके दिए योगदानों को विभिन्न ऐतिहासिक उदाहरणों के माध्यम से श्रोताओं के समक्ष रख ज्ञानवर्धन किया । उन्होंने बताया कि महात्मा गांधी के सेनापति के रूप में सरदार पटेल ने स्वतंत्रता आंदोलन में कार्य किया l वह बोलने से ज्यादा कर्म करने पर विश्वास रखते थे । वह सदैव ही देश को एकजुट करने के लिए प्रयासरत रहे उन्होंने एकीकृत भारत की नींव रखी l

            श्री सुभाष चंद्र कन्खेरिया  ने सरदार पटेल जी को नमन करते हुए उनके विचारों तथा कार्यों का व्याख्यान किया तथा श्रोताओं को एकता का महत्व समझाया । उन्होंने सभी से भिन्नताओं का सम्मान करते हुए एकजुट होकर कार्य कर राष्ट्र विकास में योगदान देने हेतु आग्रह किया । उनका भाषण काफी ओजपूर्ण था तथा उन्होंने राष्ट्रकवि दिनकर की कुछ काव्य पंक्तियाँ भी सरदार पटेल जी के संदर्भ में श्रोताओं को सुनाई i

            इस अवसर पर 75 वां आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रमों के अनुक्रम में पाठकों के लिए आयोजित प्रश्नोतरी प्रतियोगिता एवं निबंध प्रतियोगिता के विजेताओं को भी पुरस्कृत किया गया l

              दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी के पुस्तकालय एवं सूचना अधिकारी श्री के. एस. राजू ने प्रो. संजीव कुमार तिवारी, श्री सुभाष चंद्र कंखेरिया, महानिदेशक, दि.प.ला. एवं संगोष्ठी से जुड़े सभी श्रोताओं का धन्यवाद कर आभार व्यक्त किया I

            अंत में राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम समापन किया गया l

LEAVE A REPLY