हिन्दीसाहित्य जगत में सशक्त हस्ताक्षर ” लाल बिहारी लाल “

0
202

lal bihari
हिन्दीसाहित्य जगत में सशक्त हस्ताक्षर ” लाल बिहारी लाल ” हैं। AAV_n

लाल जी भारत सरकार में नौकरी करने केसाथ-साथ पर्यावरण, जीव-जंतु और मानवीय मुल्यों केसरोकार के सम्बन्ध में बराबर कार्यरत हैं ।साहित्यिक सृजन ,पर्यावरण, जागरूकता व सामाजिक चेतना को नई धार ,नई दिशा प्रदान करने वाले,सरलता एवं सहजते के प्रतीक ,विनम्रता के पर्याय, बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी लालबिहारी लाल जी ने अपने लेखन और सामाजिक चेतना के प्रति जुनून से दिल्ली प्रदेश हीनहीं राष्ट्रीय स्तर पर अपनी छाप छोड़ा है। ये अपनी लेखनी के माध्यम से विभिन्नअवसरों पर संगोष्ठी सभाओं व कवि सम्मेलनों केमाध्यम से पर्यावरण के प्रति जागरूकता की अलख जगाने का कार्य करते रहे हैं।आज उनके जन्म दिवस पर मेरी शुभकामना है की वे अपनेपुनित कार्यों के पथ पर सदैव निर्बाध रुप से अग्रसर रहें और आने वाली पीढ़ी केमार्गदर्शक, प्रेरणास्रोत बने रहें ।

आरतीआलोक वर्मा, कवयित्री (सिवान, बिहार)

LEAVE A REPLY