मैं कविता कैसे लिखूं 

0
360
WhatsApp Image 2017-10-15 at 8.13.41 PM
कविता कविता लिखनी है कविता
जाना है कवि सम्मेलन में
 प्रस्तुत करनी है कविता
 परंतु क्या मैं कविता लिखू
इस पर लिखूं या उस पर लिखो
कोई विषय भी तो हो
 जिस पर में कविता लिखूं
बचपन योवन या वृहदपन की
नारी शृंगार या दर्पण की
 राजा रंक या प्रजाजन की
फूल कलियां या मधुबन की
अभिनेता,अभिनय  मनोरंजन की
किस पर कविता लिखू
राजनीति, षड्यंत्र या नेता की
जनता या कानून की अवहेलना की
पौरुष,साहसया वीरता  की
प्रकृति,परमात्मा या भावना की
 जीवन,उद्देश्य,कर्म या मोक्ष की
या अपने कृष्ण कन्हैया की
किस पर मै कविता लिखू
तब मन बोला
कविता तो है अपने विचारों को
शब्दों  में प्रस्तुत करने का मार्ग
अपनी खुशी और सुख-दुख को
शब्दों में सजाने का अहसास
कविता वह है जो हिम्मत दिलाएं
 कविता वह है जो साहस बंधाये
कविता वह है जो हंसे – हंसाए
कविता वह है जो रूठे दिलों को बनाए
सच जिसने कविता बनाई
उसकी मैं शुक्रगुजार हूं
 अब मुझे लगता है
मैं कवि सम्मेलन में
कविता प्रस्तुत करने को तैयार हूं |
प्रीति वंजारी, नई दिल्ली

LEAVE A REPLY