आओ मिलके कदम बढाएं

0
292

न हिंदू, न मुस्लिम, न सिख-ईसाई
सब हिन्दुस्तानी हो जाएं
तो सारे झगड़े मिट जाएं |

भुलाके पुरानी रंजिशें
एक-दूजे से गले मिल जाएं
फिर रोज दिवाली-ईद मनाएं |

छुआ-छूत और ऊंच-नीच मिटाकर
हम सच्चे मानव बन जाएं
आओ मिलके कदम बढाएं |

LEAVE A REPLY